जब भी वो सामने आती है, दिल मिल्खा, जुबान मनमोहन, इरादे इमरान हाशमी हो जाते हैं.

Advertisements